Followers

There was an error in this gadget

Labels

Tuesday, September 22, 2009

मेरे जज्बात

आज मै हैरा हूँ अपने ही ज़ज्बात पर
कुछ इस कदर किया है परेशान ,
जो सोचता हूँ मेरे ख्यालो में है ,
न जाने क्यों वो मेरे ज़ज्बात में नही,
रात की तनहाईयो में वो आते है मेरे ख्यालो में ,
दिन के उजालो में खो जाते है कही ,
आज मै हैरा हूँ अपने ही ज़ज्बात पर

2 comments:

  1. बहुत सुंदर अभिव्यक्त है !आप इतना अच्छा लिखते है !
    मेरा ब्लॉग भी ज्वाइन करें !

    ReplyDelete